मन्कबते हुजुर ताजुश्शरीआह

 

उर्से अजहरी स्पेशियल कलाम

 

अज: खलीफ ऐ हुजुर ताजुश्शरीआह हजरत अल्लामा व मौलाना सलमान फरीदी सीद्दीकी मिस्बाही साहब किब्ला – (मस्कत औमान)

 

वाह क्या रंग है अय अजहरी दुल्हा तेरा

▪️नूरी पौशाक है रजवी है अमामा तेरा

 

चांद तारो की है बारात रची है शादी

▪️हामिदी फुल है जिलानी है सेहरा तेरा

 

तेरी हस्ती है कमालाते रजा की मजहर

▪️ताज वालों मे शहा ताज है उंचा तेरा

 

हुबहु मुफती ऐ आजम की जलक है तुज में

▪️इस्तेकामत की बुलंदी पे है तकवा तेरा

 

ईश्क वालों का हरम है तेरे अजदाद का दर

▪️किब्ला ए अहले मुहब्बत है धराना तेरा

 

है वही शाने कयादत तेरे खुन के अंदर

▪️तेरे कुरबां के मुजद्दीद हुवा बाबा तेरा

 

अहले हक्क केहने लगे ताजे शरीअत तुजको

▪️जोहरे ईल्मो अमल सब ने जो देखा तेरा

 

तुज में वो नूर है ऐ अख्तरे बुर्जे रिफअत

▪️मौत के बाद भी रोशन है सितारा तेरा

 

आज भी अहले नजर देख रहे है तुज को

▪️ईश्क वालों पे शहा हाथ है रख्खा तेरा

 

तेरा पैगामे अमल मस्लके आला हजरत

▪️दौलते ईश्के रिसालत है असासा तेरा

 

ऐसे रोशन है जमाने में तेरे नक्शे कदम

▪️छुं ना पाऐंगे अंधेरे कभी रस्ता तेरा

 

बट रहा है तेरी चौखट से नबी का फैजान

▪️कम ना होगा कभी ता हश्र खजाना तेरा

 

तेरे हाथों मे हाथ दिया तो फज्ले रब से

▪️साथ जन्नत में भी हम सब को मिलेगा तेरा

 

अपनी किस्मत पे सदा नाज करेंगे वो लोग

▪️देखा है जिनकी निगाहो ने भी  चेहरा तेरा

 

चांद के दर पे सितारो की है जैसी कसरत

▪️युं तेरे चाहने वालों मे है रोजा तेरा

 

ऐ वली ईब्ने वली तेरे तकद्दुस की कसम

▪️दहर मे जौहरे किरदार है यकता तेरा

 

तेरी तेहरीर से धाईल है नबी के दुश्मन

▪️तेज है खंजरो शमसीर से खामा तेरा

 

क्या ना कुरबान हो दिलों जान से हम सब ईन पर

▪️शाह अस्जद में नजर आता है जल्वा तेरा

 

हश्र तक तुजपे खुदा अब्रे अता बरसाये

▪️फैलता जाये जमाने में उजाला तेरा

 

तेरी आगोशे करम में है फरीदी की ये हयात

▪️हर मुसिबत से बचाता है सहारा तेरा

 

तेरी निस्बत से फरीदी पे भी है फज्लो करम

▪️रब का, सरकार का, और गौषो रजा का तेरा

 

तालीब ए दुआ – असीरे हुजुर ताजुश्शरीआह सगे दरे आले मुस्तफा सरकार

 

💕शब्बीर रजवी (वेरावल ,गुजरात)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *