Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madiney Chalte Hain Lyrics in Hindi

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madiney Chalte Hain Lyrics in Hindi

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madiney Chalte Hain

छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं

Naat Khwan: Owais Raza Qadri, Alhaj Yousuf Memon, Asad Attari,

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Hain
Mustafa Ghulamoñ ki qismateñ Badalte haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

 

Rahmatoñ Ke Baadal Ke Saaye Sath Chalte Hain
Mustafa Ke Deewane Ghar Se Jab Nikalte Hain
रहमतों के बादल के साए साथ चलते हैं
मुस्तफ़ा के दीवाने घर से जब निकलते हैं

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Haiñ
Mustafa Ghulamoñ Ki Qismateñ BadalTe Haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

 

Humko Roz Milta Hai Sadqa Pyare Aqa Ka
Unke Dar Ke Tukdo Par Hum Khush Nasib Palte Hain
हमको रोज़ मिलता है सदका प्यारे आक़ा का
उनके दर के टुकड़ों पर हम खुशनसीब पलते हैं

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Haiñ
Mustafa Ghulamoñ Ki Qismateñ BadalTe Haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

 

Amina Ke Pyare Ka Sabz Gumbad Wale Ka
Jashn Hum Manaate Haiñ Jalne Wale Jalte Hain
आमिना के प्यारे का सब्ज़ गुम्बद वाले का
जश्न हम मनाते हैं जलने वाले जलते हैं

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Haiñ
Mustafa Ghulamoñ Ki Qismateñ BadalTe Haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

 

Sirf Sari Duniya Meiñ Taiba Ki Wo Galiyan Hain
Jis Jagah Pe Hum Jaise Khote Sikke Chalte Hain
सिर्फ सारी दुनिया में तैबा की वोह गलियां हैं
जिस जगह पर हम जैसे खोटे सिक्के चलते हैं

 

Chhod Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Haiñ
Mustafa Ghulamoñ Ki Qismateñ BadalTe Haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

 

Sach Hai Ghair Ka Ehsaan Wo Kabhi Nahi Lete
Ay Aleem Aqa Ke Tukdo Pe Jo Palte Hain
सच है ग़ैर का एहसान वोह कभी नहीं लेते
ऐ अलीम आक़ा के टुकड़ों पे जो पलते हैं

 

Chhor Fikr Duniya Ki Chal Madine Chalte Haiñ
Mustafa Ghulamoñ Ki Qismateñ BadalTe Haiñ
छोड़ फ़िक्र दुनिया की चल मदीने चलते हैं
मुस्तफ़ा ग़ुलामों की क़िस्मतें बदलते हैं

Leave a Reply