Ab Kitni Haseen Meri Ibaadat ki Ghari Hai Lyrics in Hindi

Ab Kitni Haseen Meri Ibaadat ki Ghari Hai Lyrics in Hindi

 

अब कितनी हसीं मेरी इबादत की घड़ी है
कम से कम इश्क़ में लाज़िम है के इतना कर लूँ
तुझको पूजूँ, तुझे चाहूँ, तुझे सजदा कर लूँ

यूं बाज़्म-ए-ज़िंदगी में उजाला करेंगे हम
तुझको बिठाके सजदा करेंगे हम

अब कितनी हसीं मेरी इबादत की घड़ी है
संग-ए-दर-ए-महबूब से तकदीर लड़ी है

अए जान-ए-जहाँ, गौहर-ए-मकसूद आता कर
पर्दा चेहरे से हटा, दीद का सौगात कर दे
अपने जलवों से ही काफ़िर को मुसलमान कर दे

मैं तेरे दर पे ये उम्मीद लिए बैठा हूँ
अए सनम आज मुकम्मल मेरा ईमान कर दे

अए जान-ए-जहाँ, गौहर-ए-मकसूद आता कर
साहिल की सदा सुन तेरी सरकार बड़ी है।

 

उठूँगा न अब दर से तेरे जान-ए-तमन्ना
क़ैदी हूँ तेरा पाँव में ज़ंजीर जड़ी है

बेगाना हुआ बैठा हूँ दुनिया की तलब से
शायदा हूँ तेरा मेरी नज़र तुझसे लड़ी है

बख्शी है तेरे इश्क़ ने क्या शान निराली
दुनिया तेरे दीवाने के क़दमों में पड़ी है

आसीं हूँ फ़ना सारे ज़माने से बुरा हूँ
लेकिन मेरी सरकार की रहमत तो बड़ी है।

 

 

RAATE BHI MADINE KEE BAATE BHI MADINE KEE NAAT LYRICS

JO BHI DUSHMAN HAI MERE RAZA KA NAAT LYRICS

Main Owaisi Aan Mera Pyar Ae Owaise Qarni Lyrics

Ye Mehro-Maah Sitaron Ki Dilkashi Kya Hai

mere hussain tujhe salaam lyrics

Leave a Reply