HUMNE AANKHON SE DEKHA NAHIN HAI MAGAR NAAT LYRICS

HUMNE AANKHON SE DEKHA NAHIN HAI MAGAR NAAT LYRICS

हमने आँखों से देखा नहीं है मगर
उनकी तस्वीर सीने में मौजूद है
जिसने ला कर कलामे इलाही दिया
वो मुहम्मद मदीने में मौजूद है

हमने आँखों से देखा नहीं है मगर
उनका जलवा तो सीने में मौजूद है
जिसने ला कर कलामे इलाही दिया
वो मुहम्मद मदीने में मौजूद है

है नज़र में जमाले हबीबे खुदा
उनकी तस्वीर सीने में मौजूद है
जिसने लाके कलामे इलाही दिया
वो मुहम्मद मदीने में मौजूद है

फूल खिलते हैं पढ़ कर के सल्ले अला
झूम कर कह रही है ये बागे सबा
ऐसी खुशबु चमन के गुलों में नहीं
जो नबी के पसीने में मौजूद है

छोड़ना तेरा तयबह गवारा नहीं
सारे आलम में ऐसा नज़ारा नहीं
ऐसा मंज़र ज़माने में देखा नहीं
जैसा मंज़र मदीने में मौजूद है

हमने माना के जन्नत बहोत है हसीं
छोड़ कर हम मदीना न जाएँ कहीं
यूँ जो जन्नत में सब है मदीना नहीं
और जन्नत मदीने में मौजूद है

बेसहारों को सीने में लिपटा लिया
जिसने जो माँगा उसको अता कर दिया
वो फकीरों के अफसर शहे अम्बिया
वो शहंशाह मदीने में मौजूद है

============= Eng =======================

Humne Aankhon se dekha nahin hai Magar,
Unki Tasweer seene mein maujood hai,
Jisne laa kar Kalaame Ilaahi diya,
Wo Muhammad Madine mein Moujud hai,

Hai Nazar mein Jamaale Habibe Khuda,
Unki Tasweer Seene mein Maujud hai,
Jisne laakar Kalaame Ilaahi diya,
Wo Muhammad Madine mein Moujud hai,

Phool khilte hein pad kar ke Salle Ala,
Jhoom kar keh rahi hai ye baad-e-sabaa,
Aisi Khushbu Chaman ke Ghulon mein kahaa.n,
Jo Nabi ke Pasine mein Moujud hai,

Chhodna Tera Taybah gawaara nahi.n,
Saari Duniya mein Aisa Nazaara nahin,
Aisa Manzar Zamaane ne dekha nahin,
Jaisa Manzar Madine mein Moujud hai,

Hamne maana ke Jannat bahot hai hasee.n,
Chhod kar Ham Madina na jaye.n kahi.n,
Yun to Jannat mein sab hai Madina nahi.n,
Aur Jannat Madine me.n Moujud hai,

Be-sahaaron ko seene se lipta liya,
Jisne Jo Maanaga Usko ata kar diya,
Wo Fakiron ke Afsar Shahe Ambiya,
Wo Shahenshah Madine mein Maujud hai,

Leave a Reply