Maahe Seema Hai Ahmad E Noori

Maahe Seema Hai Ahmad E Noori

 

माहे सीमा है अह़मदे नूरी

Shayar: Ala Hazrat | Naat e Paak

Naat Khwan: Muhammad sadiq razvi, abdul Mustafa razvi, noori miyan,

Hadaaiqe Bakhshish Part 2

 

माहे सीमा है अह़मदे नूरी

मेह़रे जल्वा है अह़मदे नूरी

Maahe Seema Hai Ahmad E Noori

Mehr-E-Jalwa Hai Ahmad E Noori

 

नूर वाला है अह़मदे नूरी

नोर वाला है अह़मदे नूरी

Noor Wala Hai Ahmad E Noori

Nor Wala Hai Ahmad E Noori

 

न खुला क्या है अह़मदे नूरी

राज़ वस्ता है अह़मदे नूरी

Naa Khula Kya Hai Ahmad-E-Noori

Raaz Wasta Hai Ahmad-E-Noori

 

दूर पहुंचा है अह़मदे नूरी

बहुत ऊंचा है अह़मदे नूरी

Door Pahuncha Hai Ahmad-E-Noori

Bahut Ooncha Hai Ahmad-E-Noori

 

नूरे सीना है अह़मदे नूरी

त़ूरे सीना है अह़मदे नूरी

Noore Seena Hai Ahmad-E-Noori

Toor-E-Seena Hai Ahmad-E-Noori

 

वस्फ़े अज्ला है अह़मदे नूरी

कश्फ़े अख़्फा है अह़मदे नूरी

Wasf-E-Ajla Hai Ahmad-E-Noori

Kashf-E-Akhfa Hai Ahmad-E-Noori

 

Maahe Seema Hai Ahmad E Noori naat lyrics

 

अ़हदे औफ़ा है अह़मदे नूरी

शहदे अस्फ़ा है अह़मदे नूरी

Ahad-E-Oufa Hai Ahmad-E-Noori

Shahad-E-Asfa Hai Ahmad-E-Noori

 

जल्वे तक़्वा है अह़मदे नूरी

सल्वे तग़्वा है अह़मदे नूरी

Jalwe Taqwa Hai Ahmad-E-Noori

Salwey Taghwa Hai Ahmad-E-Noori

 

नज्म से माह मह से मेह़र हुआ

अभी नीचा है अह़मदे नूरी

Najam Se Maah Mah Se Mehar Hua

Abhi Neecha Hai Ahmad-E-Noori

 

उसके मुदरक हैं फ़ौक़े त़बीआ़त

इ़ल्में आ’ला है अह़मदे नूरी

Uske Udrak Hein Fouq-E-Tabi’at

Ilme(N) Aala Hai Ahmad-E-Noori

 

बरकाती जहां जमी हो बरात

उस में दुल्हा है अह़मदे नूरी

Barkaati Jahaan Jami Ho Baraat

Us Me Dulha Hai Ahmad-E-Noori

 

शम्से दीं की शुआओं का तेरे

सर पे सेहरा है अह़मदे नूरी

Shams-E-Dee Ki Shuao(N) Ka Tere

Sar Pe Sehra Hai Ahmad-E-Noori

 

Maahe Seema Hai Ahmad E Noori lyrics

 

तारे अन्ज़ारे मर्ह़मत से बना

तेरा जामा है अह़मदे नूरी

Tare Anzaare Marhmat Se Bana

Tera Jaama Hai Ahmad-E-Noori

 

रुश्दो इरशाद का तेरे सर पर

आज तुर्रा है अह़मदे नूरी

Rushdo Irshaad Ka Tere Sar Par

Aaj Turra Hai Ahmad-E-Noori

 

क़ादिरिय्यत है चिश्तियत से बहम

नग दो पल का है अह़मदे नूरी

Qadriyyat Hai Chishtiyat Se Baham

Nug Do Pal Ka Hai Ahmad-E-Noori

 

रफ़्अ़ क़ौमा में वज़्अ़ सज्दे में

ला व इल्ला है अह़मदे नूरी

Ruf-Aa-Qouma Me Waj-Aa Sajde Me

Laa Wa Illa Hai Ahmad-E-Noori

 

ज़िक्र ऐसा कि कलिमा की उंगली

खुद सरापा है अह़मदे नूरी

Zikr Aisa Ki Kalima Ki Ungli

Khud Saraapa Hai Ahmad-E-Noori

 

क़ौमा सीधा रुकूअ़ दोहरा है

अलिफ़ व इल्ला है अह़मदे नूरी

Qouma Seedha Rukoo’aa Dohra Hai

 

मह़ज़ इस बात का मक़ामे बुलन्द

यूं दिखाता है अह़मदे नूरी

Mahaz Is Baat Ka Maqam-E-Buland

Yun Dikhaata Hai Ahmad-E-Noori

 

मेरा मुर्शिद है मुसह़फ़े नात़िक़

नूरी आया(आयह) है अह़मदे नूरी

Mera Murshid Hai Mus’haf-E-Naatiq

Noori Aaya Hai Ahmad-E-Noori

 

मह़बित़े फ़ज़्ल शैख़ ता बरकात

पन्जसूरा है अह़मदे नूरी

Mahbit-E-Fazl Sheikh Taa Barkaat

Panjsoora Hai Ahmad-E-Noori

 

ह़रमैन इस के पैरव आ’ला पीर

बैते अक़्शा है अह़मदे नूरी

Harmain Is Ke Pairaw Aala Peer

Bait-E-Aqsha Hai Ahmad-E-Noori

 

इस्मे आस्मा त़आलल्लाह

बा मुसम्मा है अह़मदे नूरी

Isme Aasma Ta’aa-Lallah

Ba Musmma Hai Ahmad-E-Noori

 

आस्मां से उभरते हैं आस्मा

नाम कैसा है अह़मदे नूरी

Aasma(N) Se Ubharte Hein Aasma

Naam Kaisa Hai Ahmad-E-Noori

 

नाम भी नूर हुस्ने ताम भी नूर

नूर दूना है अह़मदे नूरी

Naam Bhi Noor Husne Taam Bhi Noor

Noor Doona Hai Ahmad-E-Noori

 

नूरे सरकार ज़ात दूना है

दिन सवाया है अह़मदे नूरी

Noor-E-Sarkar Zaat Doona Hai

Din Sawaaya Hai Ahmad-E-Noori

 

कीजिए अ़क्से मिस्ल की नाशिआ का

नूरे इन्शा है अह़मदे नूरी

Kijiye Aks-E-Misl Ki Naashi’aa Ka

Noor-E-Insha Hai Ahmad-E-Noori

 

कुर्ब उस आ’ला से है तुझे जिसका

क़स्र औ अदना है अह़मदे नूरी

Kurb Us Aala Se Hai Tujhe Jiska

Qasr Ao Adna Hai Ahmad-E-Noori

 

ला वलद रहते हैं तमाम अब्दाल

फ़र्दो तन्हा है अह़मदे नूरी

Laa Walad Rahte Hein Tamaam Abdaal

Fardo Tanha Hai Ahmad-E-Noori

 

पिसरो न-ब-सओ नबीरए नूर

नूर आया है अह़मदे नूरी

Pisro Nabasa-O-Nabeer-E Noor

Noor Aaya Hai Ahmad-E-Noori

 

इस की सी मां जहान में किसकी

इब्ने ज़हरा है अह़मदे नूरी

Iski Si Maa Jahan Me Kiski

Ibne Zahra Hai Ahmad-E-Noori

 

शक्ल देखो तो नूर की तस्वीर

नूरी पुतला है अह़मदे नूरी

Shakl Dekho To Noor Ki Tasveer

Noori Putla Hai Ahmad-E-Noori

 

अन्जुमन हो रही मशरिक़े नूर

जल्वा फ़रमा है अह़मदे नूरी

Anjuman Ho Rahi Mashriq-E-Noor

Jalwa Farma Hai Ahmad-E-Noori

 

बामो दर कि ज़िया से रोशन है

नूर बाला है अह़मदे नूरी

Baamo Dar Ki Ziya De Roshan Hai

Noor Baala Hai Ahmad-E-Noori

 

डोर गन्डे पे चार उ़न्सर के

तेरा गन्डा है अह़मदे नूरी

Dor Gande Pe Chaar Unsar Ke

Tera Ganda Hai Ahmad-E-Noori

 

बन्दे ता’वीज़ से कशाइश ने

क़ौल बांधा है अह़मदे नूरी

Bande Taaweez Se Kashaish Ne

Qoula Bandha Hai Ahmad-E-Noori

 

नक़्शे जमते हैं तेरी हिम्मत से

नक़्श परवा है अह़मदे नूरी

Naqsh-E-Jamtey Hein Teri Himmat Se

Naqsh Parwa Hai Ahmad-E-Noori

 

अच्छे प्यारे के दिल का टुकड़ा है

अच्छा अच्छा है अह़मदे नूरी

Achhe Pyare Ke Dil Ka Tukda Hai

Achcha Achcha Hai Ahmad-E-Noori

 

भोली सूरत है नूर की मूरत

प्यारा प्यारा है अह़मदे नूरी

Bhooli Soorat Hai Noor Ki Moorat

Pyara Pyara Hai Ahmad-E-Noori

 

गुले बग़दाद की महक में बसा

भीना भीना है अह़मदे नूरी

Gule Baghdad Ki Mahak Me Basa

Bhina Bhina Hai Ahmad-E-Noori

 

अब्रे बरकात की टपक में धुला

उजला उजला है अह़मदे नूरी

Abre Barkaat Ki Tapak Me Dhula

Ujla Ujla Hai Ahmad-E-Noori

 

है मुसफ़्फ़ा अस्ल लबों से रवां

मीठा मीठा है अह़मदे नूरी

Hai Musaffa Asl Labon Se Rawa

Meetha Meetha Hai Ahmad-E-Noori

 

वोह अ़वारिफ़ का नूर बार सिराज

जग उजाला है अह़मदे नूरी

Woh Awaarif Ka Noor Baar Siraaj

Jug Ujaala Hai Ahmad-E-Noori

 

उस के इर्शाद में दलीले यक़ीन

शक मिटाता है अह़मदे नूरी

Us Ke Irshaad Me Daleel-E-Yaqeen

Shak Mitata Hai Ahmad-E-Noori

 

गौहरे बे बहाए नूरो बहा

तेरा शजरा है अह़मदे नूरी

Gouhar-E-Be Baha-E-Noor-O-Baha

Tera Shajara Hai Ahmad-E-Noori

 

सय्यिदुल अम्बिया रसूलुल्लाह

तेरा बाबा है अह़मदे नूरी

Saiyadul Ambiya Rasoolallah

Teri Baba Hai Ahmad-E-Noori

 

मर-जउ़ल औलिया अ़ल्लिये वली

तेरा दादा है अह़मदे नूरी

Mar-Jaul Aouliya Alliye Wali

Tera Dada Hai Ahmad-E-Noori

 

वोह हुसैनी रची हुई रंगत

गुल से ज़ैबा है अह़मदे नूरी

Woh Hussaini Rachi Hui Rangat

Gul Se Zaiba Hai Ahmad-E-Noori

 

ज़ीनते ज़ैने आ़बिदी से तेरा

हुस्न निखरा है अह़मदे नूरी

Zeent-E-Zain-E-Aabidi Se Tera

Husn Nikhra Hai Ahmad-E-Noori

 

Maahe Seema Hai Ahmad E Noori lyrics

 

अ़म्मे आज़म हैं ह़ज़रते बाक़िर

तू भतीजा है अह़मदे नूरी

Amme Aazam Hein Hazrat-E-Baaqir

Tu Bhatija Hai Ahmad-E-Noori

 

सादिक़े रफ़्ज़ सोज़ का परतव

तुझ पे सच्चा है अह़मदे नूरी

Saadiq-E-Rufz Soz Ka Partaw

Tujh Pe Sachcha Hai Ahmad-E-Noori

 

शाने काजि़म दिखा मा’दिने इ़ल्म

तेरा मन्शा है अह़मदे नूरी

Shaan-E-Kaajim Dikha Maa’dine Ilm

Tera Mansha Hai Ahmad-E-Noori

 

ऐ रज़ा के रज़ी रज़ा के रज़ा

तुझ से जोया है अह़मदे नूरी

Ey Raza Ke Razi Raza Ke Raza

Tujh Se Joya Hai Ahmad-E-Noori

 

फ़ैज़े मा’रुफ़ से तेरा मा’रुफ़

शहरे शोहरा है अह़मदे नूरी

Faiz-E- Maa’roof Se Tera Maa’roof

Shahr-E-Shohra Hai Ahmad-E-Noori

 

सिर में सारी है सिर्रे पाक तेरे

सिर पे सारा है अह़मदे नूरी

Sir Me Saari Hai Sire Paak Tere

Sir Pe Saara Hai Ahmad-E-Noori

 

सय्यिदुत्ताइफ़ा का त़ाइफ़ है

हम को काबा है अह़मदे नूरी

Saiyydut’taaifa Ka Taaif Hai

Ham Ko Kaaba Hai Ahmad-E-Noori

 

शिब्ले शिब्ल्लिये क़ौमे शरज़ा पर

शेरे शरज़ा है अह़मदे नूरी

Shible Shiblliye Qoume Sharza Par

Shere Sharza Hai Ahmad-E-Noori

 

अ़ब्दे वाह़िद के बह़रे वह़दत से

दुर्रे यक्ता है अह़मदे नूरी

Abde Waahid Ke Bahre Wahdat Se

Durre Yakta Hai Ahmad-E-Noori

 

बुल फ़रह़ के लिए फ़रह़ दे दे

ग़म ने घेरा है अह़मदे नूरी

Bul Farah Ke Liye Farah De De

Gham Ne Ghera Hai Ahmad-E-Noori

 

ह़सने बुल ह़सन पे तेरा ह़सन

क्या निराला है अह़मदे नूरी

Hasne Bul Hasan Pe Tera Hasan

Kya Niraala Hai Ahmad-E-Noori

 

बू सई़दी सईद कितना साद

तेरा तारा है अह़मदे नूरी

Boo Saeedi Saeed Kitna Saad

Tera Tara Hai Ahmad-E-Noori

 

ग़ौसे कौनैन की गुलामी से

जगत आक़ा है अह़मदे नूरी

Ghos-E-Kounain Ki Gulami Se

Jagat Aaqa Hai Ahmad-E-Noori

 

अब्दे रज़्ज़ाक़ हैं वसीलए रिज़्क़

तू सहारा है अह़मदे नूरी

Abde Razzaq Hein Wasila-E-Rizq

Tu Sahara Hai Ahmad-E-Noori

 

नसरो बू नस्र इक के नस्रे नसीर

नासिर अपना है अह़मदे नूरी

Nasro Boo Nasr Ik Ke Nasr-E-Naseer

Naasir Apna Hai Ahmad-E-Noori

 

ताज़ी कोपल अ़ली की डाली में

तेरा बाला है अह़मदे नूरी

Taazi Kopal Ali Ki Daali Me

Tera Baala Hai Ahmad-E-Noori

 

शाहे मूसा के गोरे हाथों का

यदे बैज़ा है अह़मदे नूरी

Shahe Moosa Gore Haatho(N) Ka

Yade Baiza Hai Ahmad-E-Noori

 

ह़सनी अह़मदी हुसैनी ह़मीद

खुश सितूदा है अह़मदे नूरी

Hasni Ahmadi Hussaini Hameed

Khush Sitooda Hai Ahmad-E-Noori

 

देख लो जल्वए बहाउद्दीन

आईना सा है अह़मदे नूरी

Dekh Lo Jalwa-E-Bahauddin

Aaina Saa Hai Ahmad-E-Noori

 

गुले ख़न्दाने बाग़े इब्राहीम

तेरा चेहरा है अह़मदे नूरी

Gul-E-Khandaan-E-Baagh-E-Ibrahim

Tera Chehra Hai Ahmad-E-Noori

 

खुद भिकारी के दर का साइल है

हम को दाता है अह़मदे नूरी

Khud Bhikari Ke Dar Ka Saa’il Hai

Ham Ko Data Hai Ahmad-E-Noori

 

नूरे क़ाज़ी ज़िया के परतव से

नूरे अज़्वा है अह़मदे नूरी

Noor-E-Qaazi Ziya Ke Partaw Se

Noor-E-Azwa Hai Ahmad-E-Noori

 

ऐ जमाले जमील शाने जमाल

तुझ में जुमला है अह़मदे नूरी

Ey Jamaal-E-Jameel Shaan-E-Jamaal

Tujh Me Jumla Hai Ahmad-E-Noori

 

ह़म्द के दोनों पाक नामों का

फ़ैज़ो लम्आ़ है अह़मदे नूरी

Hamd Ke Dono Paak Naam(N) Ka

Faiz-O-Lam’aa Hai Ahmad-E-Noori

 

शाने अन्वारे फ़ज़्ले फ़ज़लुल्लाह

तुझ से पैदा है अह़मदे नूरी

Shaan-E-Anwaar-E-Fazlullah

Tujh Se Paida Hai Ahmad-E-Noori

 

बरकाती चमन का बूटा है

ब-र-कत ज़ा है अह़मदे नूरी

Barkaati Chaman Ka Boota Hai

Barkat Zaa Hai Ahmad-E-Noori

 

बाग़े आले मुह़म्मदी है निहाल

सुथरा पैदा है अह़मदे नूरी

Baagh-E-Aale Muhammadi Hai Nihaal

Suthra Paida Hai Ahmad-E-Noori

 

रहे ह़म्ज़ा का मै-कदा जिस की

मध का माता है अह़मदे नूरी

Rahe Hamza Ka Maikada Jis Ki

Madh Ka Mata Hai Ahmad-E-Noori

 

आले अह़मद हैं मुस्त़फा के चांद

माहे प्यारा है अह़मदे नूरी

Aale Ahmad Hein Mustafa Ke Chand

Maahe Pyara Hai Ahmad-E-Noori

 

खुसरवे औलिया हैं आले रसूल

शाहज़ादा है अह़मदे नूरी

Khusraw-E-Auliya Hein Aale Rasool

Shahzaada Hai Ahmad-E-Noori

 

मेरे आक़ा का लाडला बेटा

नाज़ो पाला है अह़मदे नूरी

Mere Aaqa Ka Laadla Beta

Naazo Paala Hai Ahmad-E-Noori

 

शबे बिदअ़त से कहिये हो काफूर

नूर अफ़्ज़ा है अह़मदे नूरी

Shab-E-Bid’at Se Kahiye Ho Kaafoor

Noor Afza Hai Ahmad-E-Noori

 

रफ़्ज़ो तफ़्सील व नदवा का क़ातिल

सुन्नत-आरा है अह़मदे नूरी

Rufzo Tafseel Wa Nadwa Ka Qaatil

Sunnat Aara Hai Ahmad-E-Noori

 

सीधा साधा है लेकिन उल्टों से

बांका तिरछा है अह़मदे नूरी

Seedha Saadha Hai Lekin Ulton Se

Baanka Tirchha Hai Ahmad-E-Noori

 

देखे भाले हैं शह़़र दह़र के शैख़

सब से औला है अह़मदे नूरी

Dekhe Bhaale Hein Shahar Dahar Ke Sheikh

Sub Se Aula Hai Ahmad-E-Noori

 

खुलफ़ाए सालसा का है गुलाम

जब तो मौला है अह़मदे नूरी

Khulfa-E-Salsa Ka Hai Gulam

Jab To Moula Hai Ahmad-E-Noori

 

ज़ाएक़ा उन का ता ज़बां ही नहीं

दिल से शैदा है अह़मदे नूरी

Zaayeqa Unka Taa Zaba(N) He Nahi

Dil Se Shaida Hai Ahmad-E-Noori

 

बे त़क़िय्या बना करें अय्यार

मर्गे शिआ़ है अह़मदे नूरी

Be Taqiyya Bana Kare Ayyaar

Margey Shi’aa Hai Ahmad-E-Noori

 

बे मह़ासिन हैं पीर चोटी के

मर्द ह़क़ का है अह़मदे नूरी

Be Mahasin Hein Peer Choti Ke

Mard Haq Ka Hai Ahmad-E-Noori

 

यां नहीं कुफ्र पे चमर तौह़ीद

ख़ास बन्दा है अह़मदे नूरी

Yaan Nahi Kufr Pe Chamar Touheed

Khaas Banda Hai Ahmad-E-Noori

 

खो के सुधबुध बने सनीचर पीर

ह़क़ का जुम्अ़ है अह़मदे नूरी

Kho Ke Sudh-Budh Bane Sanichar Peer

Haq Ka Jum’aa Hai Ahmad-E-Noori

 

बद मज़ाक़ों को तेरा शह़द है त़ल्ख़

उन को सफ़्रा है अह़मदे नूरी

Bud Mazaqo(N) Ko Tera Shahad Hai Talkh

Un Ko Safa Hai Ahmad-E-Noori

 

जलते हैं तेरे गर्म चर्चे से

उन को सौदा है अह़मदे नूरी

Jalte Hein Tere Garm Charche Se

Un Ko Souda Hai Ahmad-E-Noori

 

ऐ अ़लम ताज़ियों के मुजरे से दूर

तुझ को मुजरा है अह़मदे नूरी

Ey Alam Taaziyo(N) Ke Mujre Se Door

Tujh Ko Mujra Hai Ahmad-E-Noori

 

शबे बात़िल का अब सवेरा है

ह़क़ का तड़का है अह़मदे नूरी

Shab-E- Baatil Ka Ab Sawera Hai

Haq Ka Tadka Hai Ahmad-E-Noori

 

जुल्मते ग़म तो और मुझ को दिया

मेरा मावा है अह़मदे नूरी

Julmat-E-Gham To Aur Mujh Ko Diya

Mera Maawa Hai Ahmad-E-Noori

 

तेरी रह़मत पर तेरी नेमत पर

मेरा दावा है अह़मदे नूरी

Teri Rahmat Par Teri Nemat Par

Mera Daawa Hai Ahmad-E-Noori

 

जिस का मैं ख़ानज़ाद उसका तू

प्यारा बेटा है अह़मदे नूरी

Jis Ka Mein Khaanzaad Uska Tu

Pyara Beta Hai Ahmad-E-Noori

 

मेरे आक़ा का तुझ पे और तेरा

मुझ पे साया है अह़मदे नूरी

Mere Aaqa Ka Tujh Pe Aur Tera

Mujh Pe Saaya Hai Ahmad-E-Noori

 

तीरह बख़्ती ने कर दिया अन्धेर

देर अब क्या है अह़मदे नूरी

Teerah Bakhti Ne Kar Diya Andher

Der Ab Kya Hai Ahmad-E-Noori

 

नूरे अह़मद मुझे भी चमका दे

नाम तेरा है अह़मदे नूरी

Noor-E-Ahmad Mujhe Bhi Chamka De

Naam Tera Hai Ahmad-E-Noori

 

लाख अपना बनाएं ग़ैर उसे

फिर हमारा है अह़मदे नूरी

Laakh Apna Banaien Ghair Use

Fir Hamara Hai Ahmad-E-Noori

 

दूध का दूध पानी का पानी

करने वाला है अह़मदे नूरी

Doodh Ka Doodh Paani Ka Paani

Karne Wala Hai Ahmad-E-Noori

 

दर्द खो दे कि ख़्वाहिशों ने बहुत

दिल दुखाया है अह़मदे नूरी

Dard Kho De Ki Khwahisho(N) Ne Bahut

Dil Dukhaya Hai Ahmad-E-Noori

 

तू हंसा दे कि नफ़्से बद ने सितम

ख़ूं रुलाया है अह़मदे नूरी

Tu Ha(N)Sa De Ki Nafs-E-Bud Ne Sitam

Khoo(N) Roolaya Hai Ahmad-E-Noori

 

ख़ाक हमने उड़ाई यूहीं सही

तू तो दरिया है अह़मदे नूरी

Khaak Hamne Udaai Yuhi Sahi

Tu To Dariya Hai Ahmad-E-Noori

 

ख़ानदानी करम क़दीमी जूद

तेरा ह़िस्सा है अह़मदे नूरी

Khaandani Karam Qadeemi Jood

Tera Hissa Hai Ahmad-E-Noori

 

पोतड़ों का करीम इब्ने करीम

करम आमा है अह़मदे नूरी

Potdo(N) Ka Kareem Ibne Kareem

Karam Aama Hai Ahmad-E-Noori

 

मेरे ह़क़ में मुख़ालिफ़ों की न सुन

हक़ यह मेरा है अह़मदे नूरी

Mere Haq Me Mukhalifo(N) Kin A Sun

Haz Yeh Mera Hai Ahmad-E-Noori

 

इतना कह दे रज़ा हमारा है

पार बेड़ा है अह़मदे नूरी

Itna Kahde RAZA Hamara Hai

Paar Beda Hai Ahmad-E-Noori

Leave a Reply