Ay Habib E Ahmed E Mujtaba Dil E Mubtala Ka Salam Lo Lyrics In Hindi

 

 

ए हबीबे अहमदे मुज्तबा दिले मुब्तला का सलाम लो
जो वफा की राह में खो गया उसी गुम शुदा का सलाम लो

में तलब से बाज ना आऊंगा तु करम का हथ बड़ाए जा
जो तेरे करम से है आशना उसी आश्ण का सलाम लो

मेरी हाजरी हो मदीने में मिले लुत्फ मुझको भी जीने में
तेरा नूर हो मेरे सीने में मेरी इस दुआ का सलाम लो

कोई मर रहा है बहिश्ट पर कोई चाहता है नजात को
में तुझी को चाहूं खुदा करे मेरी इस दुआ का सलाम लो

वोह हुसैन जिसने छिड़क के खून
चमने वफा को हरा किया
उसी जा निसार का वास्ता के हर इक गदा का सलाम लो

तमाम औलिया के बुलंद सर है क़दम पे जिनके झुके हुवे
उसी प्यारे गौस का वास्ता के हर इक गदा का सलाम लो

यहीं रोजो शब है दुआ मेरी के मरूं तो तेरे दयार में
यही मुद्दअा ए हयात है उसी मुद्दआ का सलाम लो

One thought on “Ay Habib E Ahmed E Mujtaba Dil E Mubtala Ka Salam Lo Lyrics In Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *