Qadira Sarwara Rahnuma Dastgeer Hindi Lyrics

Qadira Sarwara Rahnuma Dastgeer Hindi Lyrics

 

क़ादिरा सरवरा रहनुमा दस्त-गीर / Qadira Sarwara Rahnuma Dastagir

 

Qadira Sarwara Rehnuma Dastagir
Gause Azam Imame Mubin Be-Nazir

Zikr Se Tere Tal Jaye Sab Mushkile
Naam Se Tere Paaye Rihaayi Asir

Qadira Sarwara Rehnuma…

Tere Zere Qadam Auliya Asfiya
Sarware Sarwara Pire Roshan Zamir

Qadira Sarwara Rehnuma…

Tu Jise Chahe De, Jis Kadar Chahe De
Teri Bakhshis Nirali Ata Be-Nazir

Qadira Sarwara Rehnuma…

Kuchh Nahin Chahte Aur Tere Siwa
Kaise Sultan Hai Tere Dar Ke Fakir

Qadira Sarwara Rehnuma…

Ye Vazifa Hai Har Gham Ka Darma Waqaar
Gause Azam Madad Al Madad Dastagir

Qadira Sarwara Rehnuma…

 

 

कादिरा सरवरा रहनुमाँ दस्तगीर

 

 

कादिरा सरवरा रहनुमाँ दस्तगीर
गौसे आजम इमामे मुबीन बे-नज़ीर

ज़िक्र से तेरे टल जायें सब मुश्किले
नाम से तेरे पायें रिहाई असीर

कादिरा सरवरा रहनुमाँ…

तेरे ज़ेरे क़दम औलिया असफ़िया
सरवरे सरवराँ पीरे रोशन ज़मीर

कादिरा सरवरा रहनुमाँ…

तू जिसे चाहे दे, जिस कदर चाहे दे
तेरी बख्शीश निराली अता बे-नज़ीर

कादिरा सरवरा रहनुमाँ…

कुछ नहीं चाहते और तेरे सिवा
कैसे सुल्तान है तेरे दर के फ़क़ीर

कादिरा सरवरा रहनुमाँ…

ये वज़ीफ़ा है हर ग़म का दरमा वक़ार
गौसे आजम मदद अल मदद दस्तगीर

कादिरा सरवरा रहनुमाँ…

 

क़ादिरा सरवरा रहनुमा दस्त-गीर
ग़ौस-ए-आ’ज़म इमाम-ए-मुबीं बे-नज़ीर

तेरे ज़ेर-ए-क़दम औलिया अस्फ़िया
सरवर-ए-सरवराँ पीर-ए-रौशन-ज़मीर

ज़िक्र से तेरे टल जाएँ सब मुश्किलें
नाम से तेरे पाएँ रिहाई असीर

तू जिसे चाहे दे, जिस क़दर चाहे दे
तेरी बख़्शिश निराली, ‘अता बे-नज़ीर

कुछ नहीं चाहते तेरे दर के सिवा
कैसे सुल्तान हैं तेरे दर के फ़क़ीर

तू ने अहमद रज़ा को यूँ आ’ला किया
कि ज़माने में मिलती नहीं है नज़ीर

तू है आईना-ए-सीरत-ए-मुस्तफ़ा
तू ‘अलीम-ओ-ख़बीर-ओ-बशीर-ओ-नज़ीर

तेरी निस्बत है मे’यार-ए-‘इज़्ज़-ओ-शरफ़
कैसे अदना रहे जिस का आ’ला हो पीर

ये वज़ीफ़ा है हर दुख का दरमाँ, वक़ार !
ग़ौस-ए-आ’ज़म मदद ! अल-मदद दस्त-गीर !

ये वज़ीफ़ा है हर ग़म का दरमाँ, वक़ार !
ग़ौस-ए-आ’ज़म मदद अल-मदद दस्त-गीर !

ना’त-ख़्वाँ:
हाजी मुश्ताक़ अत्तारी
ओवैस रज़ा क़ादरी
ज़ुल्फ़िक़ार अली हुसैनी

કાદીરા સરવરા રહનુમાં દસ્તગીર

 

કાદીરા સરવરા રહનુમાં દસ્તગીર
ગૌસે આઝમ ઇમામે મુબીન બે-નઝીર

ઝિક્ર સે તેરે ટલ જાયે સબ મુશ્કીલે
નામ સે તેરે પાયે રિહાઇ અસીર

કાદીરા સરવરા રહનુમાં…

તેરે ઝેરે કદમ ઔલિયા અસફિયા
સરવરે સરવરાં પીરે રોશન ઝમીર

કાદીરા સરવરા રહનુમાં…

તુ જીસે ચાહે દે, જીસ કદર ચાહે દે
તેરી બખ્શીશ નિરાલી અતા બે-નઝીર

કાદીરા સરવરા રહનુમાં…

કુછ નહીં ચાહતે ઔર તેરે સિવા
કૈસે સુલતાન હૈ તેરે દર કે ફકીર

કાદીરા સરવરા રહનુમાં…

યે વજીફા હૈ હર ગમ કા દરમા વકાર
ગૌસે આઝમ મદદ અલ મદદ દસ્તગીર

કાદીરા સરવરા રહનુમાં…

 

Artist – Alhaj Owais Raza Qadri

Naat-Khwaan:
Haji Mushtaq Attari
Owais Raza Qadri
Zulfiqar Ali Hussaini

 

 

Leave a Reply